menu

और लेख

  • मुंबई स्थित ‘‘आकार’’ ने माहवारी के दौरान स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए किफायती और पर्यावरण अनुकूल उत्पादों को तैयार किया है।

  • नेक्सस स्टार्ट-अप हब में प्रशिक्षण पाने वाले बायो क्रा़फ्ट इनोवेशंस द्वारा बनाए सदाजीवी बांस के रेशों के उत्पाद से प्लास्टिक के एकल उपयोग में कमी आई है।

  • यू.एस.-इंडिया स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप फोरम ने भविष्य में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार में भारी बढ़ोतरी का अनुमान लगाया है और सबसे ज्यादा फोकस उर्जा सहभागिता पर होगा।

  • अमेरिका के साथ व्यापारिक साझेदारी से भारत को ऐसी ताकत के रूप में उभरने में मदद मिली है, जिसने विश्व अर्थव्यवस्था में उसे खास पहचान दिलाई है। इस साझेदारी में बेहतरीन परंपराओं और कौशल को साझा किया गया है। 

  • एयरस्वी 2.0 में भाग लेने वाली पारुल बाजोरिया का सामाजिक उद्यम मिहारु प्राचीन कला और शिल्प के संरक्षण के लिए ग्रामीण कारीगरों को शहरी उपभोक्ताओं से जोड़ता है।  

  • सरल सरल डिजाइन्स ने पैड  तैयार करने वाली अपनी मशीनों में बदलाव करके उनसे कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए बड़े पैमाने पर सर्जिकल मास्क बनाने का काम शुरू किया है। 

  • टेककैंप साउथ एशिया की प्रतिभागी चंद्रा वधाना आर. महिलाओं की कॅरियर संभावनाओं में बढ़ोतरी के लिए उन्हें डिजिटल रोज़गार कौशल प्रदान करती हैं।  

  • पटना का एक संगठन ऐसे मोबाइल एप और अन्य सेवाएं मुहैया करा रहा है, जिनकी सहायता से किसान कृषि-गतिविधियों के ज़रिये अधिक कमाई कर सकें।  

  • अमेरिकी विदेश विभाग के एक्सचेंज प्रोग्राम में भागीदारी करने वाली यमुना शास्त्री का सामाजिक उद्यम कैब दोस्त, टैक्सी चालकों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए वित्तीय सेवाएं उपलब्ध करा रहा है।  

  • एफआईए टेक्नोलॉजी बैंकिंग सेवाओं को हाशिए पर मौजूद लोगों तक पहुंचाकर वित्तीय समावेशन के काम में जुटी है। हरियाणा की इस कंपनी को मिलेनियम अलायंस सम्मान हासिल हो चुका है।  

  • नेक्सस प्रशिक्षित हाइड्रोटेक सॉल्यूशंस ने सौर ऊर्जा से चालित ऐसी जल शुद्धिकरण प्रणाली विकसित की है जिससे लोग जब चाहें, थोड़ा पैसा खर्च कर सुरक्षित पानी हासिल कर सकेंगे।  

  • फुलब्राइट-नेहरू शोधार्थी डायना ज्यू-राजासिंह उस एस्समार्ट की सह-संस्थापिका हैं, जो मौजूदा स्थानीय नेटवर्कों में डिस्ट्रीब्यूशन चैनल बनाकर जीवन को बेहतर बनाने वाली तकनीकें मुहैया करा रही हैं।  

  • रोडबाउंस की तकनीक स्मार्टफोन से यह दर्ज़ करती है कि किस जगह गाडि़यां कितनी तेज़ी से उछल रही हैं। इन आंकड़ों का विश्लेषण कर बुनियादी ढांचे को बेहतर बनाने और यात्रा सुरक्षित बनाने की कोशिश होती है।  

  • नेक्सस से प्रशिक्षित स्टार्ट-अप शिलिंग्स एयर वायु प्रदूषण खत्म करने के लिए ऐसे उत्पाद और सेवाएं देने का काम करती है जो किफायती होने के साथ साफ हवा का आकलन करने में भी मदद देते हैं।