menu

और लेख

  • इस वर्ष वर्चुअल जयपुर साहित्य महोत्सव में अमेरिकी दूतावास नई दिल्ली द्वारा प्रायोजित एक सत्र में चर्चा हुई कि किस तरह से हमारी दैनिक गतिविधियां जलवायु परिवर्तन को रोकने के प्रयासों में प्रभावी साबित हो सकती हैं।

  • आईवीएलपी प्रोग्राम की प्रतिभागी रहीं अनु जोगेश जोखिम के आकलन, योजनाएं बनाने और विश्लेषण के अपने काम से जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को झेल सकने की क्षमता तैयार कर रही हैं।

  • यूएसएड/भारत की तरफ से वित्तपोषित एक प्रोजेक्ट की बदौलत क्लाइमेट-स्मार्ट खेती और तकनीक को बढ़ावा दिया जा रहा है ताकि एक टिकाऊ खाद्यान्न व्यवस्था को तैयार किया जा सके।

  • अमेरिका में अल्पसंख्यक समुदायों के अधिकारों को सुनिश्चित करने की लंबी परंपरा रही है। एक सर्वेक्षण से संकेत मिलता है कि अधिकतर अमेरिकी एलजीबीटीक्यूआई+ अधिकारों का समर्थन करते हैं।

  • फुलब्राइट-कलाम क्लाइमेट फेलो आफरीन हुसैन ने इस अत्यधिक संवेदनशील पारिस्थितिकी के संरक्षण में सहायता के लिए मूंगा चट्टानों या कोरल रीफ पर जलवायु परिवर्तन और मानव जनित गड़बड़ी के असर को समझने का प्रयास किया है।

  • भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक भागीदारी से इस अहम दशक में जलवायु मसले पर कार्रवाई को लेकर तुरंत प्रगति हो सकती है।

  • पर्यावरण संगठन स्वेच्छा अमेरिकी विदेश विभाग की मदद से तकनीक का इस्तेमाल करने के साथ लोगों को प्रेरित कर भारत में पर्यावरण बदलाव के लिए माहौल बना रहा है।

     

  • फ़ुलब्राइट-नेहरू फ़ेलो डॉ. सोन्जा क्लिंस्की ऐसी विश्लेषण क्षमता बनाने में जुटी हैं जिससे जलवायु परिवर्तन के लिए कदम उठाते वक्त मानव विकास ज़रूरतों का भी ध्यान रखा ला सके। 

  • विमेन हिस्ट्री मंथ के मौके पर हम उन महिलाओं को सलाम करते हैं जिन्होंने अमेरिका में राजनयिक क्षेत्र में महिलाओं को रास्ता दिखाया।

  • अमेरिकी महिलाओं ने लगातार राजनीतिक प्रगति के लक्ष्य हासिल कर अमेरिकी इतिहास में खुद को दर्ज़ किया है। इस फोटो फीचर के माध्यम से जानते हैं अमेरिकी महिलाओं की राजनीतिक समय-यात्रा के बारे में। 

  • मिनिस्टर काउंसलर ऑफ़ पब्लिक अफ़ेयर्स और स्पैन के प्रकाशक डेविड एच. केनेडी द्वारा स्पैन के प्रकाशन के 60 साल पूर्ण के मौके पर विशेषांक के लिए दिए संदेश को पढें।

  • अमेरिका में जोसेफ आर. बाइडन और कमला डी. हैरिस के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेने से संबद्ध 59वें उद्घाटन समारोह के चित्रों से रूबरू हों।

     

  • एक-दूसरे देशों की जनता के बीच मज़बूत संबंधों का इतिहास 200 सालों से भी ज़्यादा पुराना है। यह अमेरिका के शुरुआती दिनों और भारत की आज़ादी से काफी पहले की दास्तां है।

  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अंतरिक्ष खोज जैसे अवसरों, और स्वच्छ हवा, स्वच्छ पानी तक पहुंच और वन्यजीवों को बचाने जैसी चुनौतियों से निपटने के लिए मिलकर काम करने के साथ हमारे साझा नेतृत्व की महत्ता और बढ़ेगी।